महाशिवरात्रि से पूर्व रोशनी से नहाया श्री पशुपतिनाथ मंदिर

0
33

0-केशवराज पांड

भोपाल। (हिंद न्यूज सर्विस)।प्रदेश की राजधानी में गोविंदपुरा स्थित श्री पशुपतिनाथ मंदिर रंग बिरंगी रोशनी से सराबोर हो गया। मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व धुमधाम से मनाने की तैयारी चल रही है। इसके अलावा महाशिवरात्रि पर तीन लाख बातियों से भगवान श्री पशुपतिनाथ का रूद्राभिषेक किया जाएगा। पर्व की पूर्व संध्या पर सोमवार शाम मंदिर परिसर में नेपाली समाज की महिलाओं ने भजन कीर्तन भी आयोजित किया गया।

तैयारियों को अंतिम रूप देने अध्यक्ष  रामू शर्मा, उपाध्यक्ष कमल कुमार थापा, महिला उपाध्यक्ष  जानुका भट्टराई, महामंत्री  केबी खड़का, कार्यालय मंत्री  सूरज अर्याल, कोषाध्यक्ष  भरत अर्याल समेत अन्य कार्यकारिणी के सदस्य जुटे हुए है। मंगलवार को 21 मूल कलश लेकर नेपाली समाज के 21 दंपत्ति मंदिर से 13 फरवरी को प्रस्थान करेंगे। दंपत्ति शिवाजी नगर स्थित श्री विश्वनाथ मंदिर में यह कलश की स्थापना करेंगे। नेपाली समाज का यह 40 वां महाशिवरात्रि पर्व महोत्सव हैं। स्थापित घट कलशों को अगले दिन 14 फरवरी की सुबह साढ़े आठ बजे 21 कन्या उठाकर यात्रा का नेतृत्व करेंगी। इसमें समाज की तरफ से अन्य महिलाएं भी कलश लेकर शामिल होगी। कलश यात्रा पांच नम्बर, छह नम्बर, व्यापमं चौराहे से दाहिने मुड़कर चेतक ब्रिज, गौतम नगर होते हुए दोपहर साढ़े बारह बजे विसर्जन के लिए पहुंचेगी। कलश यात्रा मंदिर पहुंचने के बाद रूद्राभिषेक शुरू होगा।

घर-घर से पहुंच रही बाती

महाशिवरात्रि पर्व को लेकर एकतरफ मंदिर रोशनी से नहाया हुआ है। वहीं महाशिवरात्रि के दिन दीपकों से मंदिर को जगमगाने के लिए बाती बनाई जा रही है। यह जिम्मेदारी नेपाली समाज की एक हजार से अधिक महिलाओं को दी गई है। 13 फरवरी को मंदिर प्रांगण में शाम पांच बजे से पार्थिव शिवलिंग का निर्माण किया जाएगा। शिवलिंग निर्माण के दौरान ही रूद्राभिषेक किया जाएगा।  शाम 7 बजे से विशेष आरती होगी।

भंडारे के लिए आया दान

महाशिवरात्रि के दिन समाज का चल समारोह निकलेगा। इस चल समारोह में जहां शिव-पार्वती आकर्षण का केन्द्र होंगे वहीं बारातियों में शामिल उनके गण झूमते हुए बोले बम के नारे लगाएंगे। श्री पशुपतिनाथ मंदिर प्रांगढ में 15 फरवरी गुरुवार के दिन भंडारे का आयोजन किया गया है। भंडारे के लिए मंदिर समिति की 11 एरिया समिति को घर-घर से प्रसाद वितरण के लिए दान मिल रहा है। इस दान से महाशिवरात्रि के अगले दिन भंडारा होगा।
0
00000000

LEAVE A REPLY