तेंदूपत्ता संग्राहकों को अभी तक नहीं मिले जूता, चप्पल और पानी की बाटल

0
29

०-अवधेश पुरोहित
भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। शिवराज सरकार के १२ साल के शासनकाल में यूँ तो घोषणाओं का दौर खूब चला लेकिन वह धरातल पर कितनी आईं यह जाँच और शोध का विषय है, तो वहीं चुनाव की आहट के चलते हर वर्ग को लुभाने के लिये हर तरह के प्रयास किये जा रहे हैं और उनके लिये घोषणा दर घोषणायें की जा रही हैं सवाल यह उठता है कि चुनावी वर्ष में मुख्यमंत्री और सरकार द्वारा की जा रही घोषणाओं पर अमल हो पाएगा या नहीं इसको लेकर तमाम सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि अभी भी सरकार की ओर से की गई तमाम घोषणायें सिर्फ घोषणायें बनकर रह गई वो अभी तक धरातल पर नहीं उतर सकीं ऐसा ही एक उदाहरण मुख्यमंत्री द्वारा की गई प्रदेश के तेंदू पत्ता संग्राहकों को जूता, चप्पल और पानी की बाटल दिये जाने का मामला सामने आया है, हालांकि यह मामला प्रदेश के तेंदू पत्ता संग्रहाकों से जुड़ा हुआ है लेकिन सतना जिले के तेंदूपत्ता संग्रहाकों के बीच बोनस सहित जूता-चप्पल व पानी की बॉटल का वितरण अभी तक न होने से आक्रोश पनप रहा है। अब जब चुनाव की सुगबुगाहट शुरू हुई तो ये संग्राहक फिर से शासन को याद आए। उधर वन विभाग के अधिकारी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। जिले की ४२ समितियों के करीब ३२ हजार तेंदूपत्ता संग्राहकों के बीच वर्ष २०१६ का आठ करोड़ रुपए बोनस तथा ७० हजार के करीब पानी, बॉटल, जूता-चप्पल तेंदूपत्ता सीजन की समाप्ति पर वितरण किया जाना था लेकिन अभी तक वितरण न होने के चलते ३२ हजार संग्राहक अभी तक इस लाभ से वंचित हैं। यूं तो चप्पल-जूता पानी की बॉटल वितरण करने की घोषणा चित्रकूट उप चुनाव के पहले बरौंधा में आयोजित सभा में मंच से करते हुए जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को तुरंत देने के लिए कहा था। बताया जाता है कि इन्दौर की किसी फर्म को इसके लिए अधिकृत भी किया गया था। इधर विभाग से जुड़े सूत्र बताते हैं कि तत्कालीन प्रबंध संचालक आरबी शर्मा ने जूता-चप्पलों व पानी की बॉटल के लिए संग्रहाकों की सूची तैयार की थी और इसे भोपाल मुख्यालय को भेजा था। इसी बीच भोपाल ने जूता-चप्पल के लिए पैरों की नाम लेने का फरमान जारी कर दिया और पैरों की नाम भोपाल भेज दी लेकिन वहां से न तो कोई आदेश आया और न ही खेप पहुंची। इसी बीच लोकसभा चुनाव की आहट होने पर शासन ने इन संग्राहकों की याद आई और अब पुन: अधिकारी और कर्मचारी इस कार्य में नए सिरे से जुट गए हैं। बताया जाता है कि अगले सीजन की शुरुआत में बोनस की राशि और जूता-चप्पलों का वितरण कर दिया जाएगा।

०००००००००००

LEAVE A REPLY