बिहार-नवादा संत कुटीर आश्रम में 3 साध्वियों से रेप

0
38

नवादा।(हिन्द न्यूज सर्विस)। बिहार के नवादा जिले में संत कुटीर आश्रम में तीन साध्वियों के साथ रेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक जिले के गोविंदपुरा थाना क्षेत्र के बहियारा मोड़ स्थित आश्रम में यह घटना घटी है।

पुलिस के मुताबिक यह आश्रम बाबा सच्चिदानंद का है। संत कुटीर आश्रम नवादा जिले के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के बहियारा मोड़ पर स्थित है। रेप का आरोप लगाने वाली दो साध्वी उत्तर प्रदेश और एक बिहार की रहने वाली है। आरोप है हथियारों के बल पर 10 सेवादारों ने तीनों साध्वियों के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। पीडि़ताओं ने इस मामले में 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करवाया है, जिनमें से 5 नामजद है।

आरोपितों में उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला के लालगंज थाना क्षेत्र के सेलरा गांव का कल्पनाथ चौधरी, गिरजाशंकर चौधरी, तपस्यानंद उर्फ श्यामचंद उर्फ श्याम चौधरी व अजीत चौधरी और दिलचंद पटेल शामिल है। पुलिस के मुताबिक यह मामला पिछले साल 12 दिसंबर का है और इस मामले में 4 जनवरी को एफआईआर दर्ज हुई है।

बताया जा रहा है कि आश्रम के सेवादारों ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। जिन पर आरोप लगा है वह आश्रम छोड़कर फरार हो चुके हैं। जिले के पुलिस अधीक्षक विकास बर्मन ने मीडिया को बताया है कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए टीम का गठन कर छापेमारी की जा रही है।

पीडि़त साध्वियों ने जो बयान दिया है, उसके मुताबिक वे लोग 12 दिसंबर को अपने कमरे में खाना बना रही थीं। उसी दौरान कुछ लोग जबरन दरवाजा खोलकर अंदर घुस गये। उसके बाद यूपी के बस्ती जिले के लालगंज थाना क्षेत्र के सेलरा गांव निवासी कल्पनाथ चौधरी, गिरिजाशंकर चौधरी, तपस्यानंद व अजीत चौधरी ने उन्हें गाली गलौज करते हुए पकड़ लिया और कमरे के अंदर खींचकर ले गये। जब बाकी साध्वी को एक-एक कर कमरे में ले गये और हथियार के बल पर एक-एक कर उनके साथ रेप किया। कुछ लोग हथियार लेकर खड़े रहे। घटना को अंजाम देने के बाद उनलोगों ने जान से मारने की धमकी दी और वहां से फरार हो गये। पीडि़तों के मुताबिक सभी आरोपित अक्सर आश्रम के अन्य शाखाओं से संबंध रखते हैं और यहां आते-जाते रहते हैं।

एक साध्वी ने मीडिया को बताया कि कुछ महीने पहले ही एक साध्वी के साथ आरोपित द्वारा रेप की घटना को अंजाम दिया गया था और हथियार का भय दिखाकर चुप रहने के लिए बोला गया था। विरोध करने पर फायरिंग की गयी थी, जिससे एक व्यक्ति घायल भी हुआ था। उस समय मामले पुलिस तक नहीं पहुंचा था। उस घटना के बाद तीन साध्वी डर के मारे बंगाल चली गयी। बाद में वह आश्रम के प्रयास से लौटीं और पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज करायी।

मामला सामने आने के बाद गुरुवार को कोर्ट में पीडि़तों का 164 के तहत बयान दर्ज कराया गया। वहीं दूसरी ओर गोविंदपुर के थानाध्यक्ष ने तीनों साध्वियों को कोर्ट लेकर पहुंचे और बयान दर्ज कराया। साथ ही तीनों का मेडिकल कराने के लिए सदर अस्पताल लाया गया। जानकारी के मुताबिक आरोपितों में दो लोग अकबरपुर थाना क्षेत्र के पिथौरी के दिनेश प्रसाद और यूपी के बस्ती जिला के एक आरोपित को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। हालांकि, पुलिस अभी पूरे मामले में खुलकर बोलने से इनकार कर रही है।

साध्वियों ने यह बयान दिया है कि वह लोग छह साल से आश्रम में रह रही हैं। आश्रम में कई प्रदेशों के पुरुष व महिला सदस्य रहते हैं। पीडि़ता ने बताया कि आश्रम में करीब 40-50 की संख्या में महिला और दो दर्जन के करीब पुरुष सदस्य हैं। यहां से पश्चिम बंगाल, यूपी और झारखंड के साथ अन्य प्रदेशों में प्रवचन करने के लिए साध्वी जाती हैं। यहां कार्तिक, माघ व वैशाख महीने की पूर्णिमा को सच्चितानंद पहुंचकर प्रवचन देते हैं।

मामले में एसपी ने कहा है कि सभी आरोपित दूसरे प्रदेश के रहने वाले हैं, उनकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। यूपी में भी छापेमारी की जा रही है। वहीं इस घटना ने बिहार में हड़कंप मचा दिया है।

०००००००००००

LEAVE A REPLY