तेंदुए की खाल सहित तीन गिरफ्तार

0
172

०-पियूष पांडेय
मंडला। (हिन्द न्यूज सर्विस)। कान्हा टाईगर रिजर्व की स्पेशल टीम ने तेंदुए की खाल सहित तीन तस्करों को मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा से लगे डिंडोरी जिले के करंजिया वन परिक्षेत्र अंतर्गत पकरी सोढ़ा ग्राम से गिरफ्तार किया है। डिंडोरी जिले के वन विभाग के साथ की गई इस संयुक्त कार्यवाही से वन्य प्राणी तस्करी के मामलो में कई खुलासे होने की उम्मीद जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि तेंदुए सहित अन्य वन्य प्राणियों की खाल होने की सूचना मिलने पर कान्हा टाईगर रिजर्व की विशेष टीम ने अपने मुखबिरों को सक्रिय किया।मुखबिरों द्वारा जानकारी की पुष्टि होने के बाद तस्करों से व्यापारी बन संपर्क किया गया। तस्करों को जब पूरी तरह विश्वास हो गया कि उनसे तेंदुए की खाल का सौदा करने वाले व्यापारी हैं तब वे तेंदुए की खाल लेकर पहुंचे। जैसे ही तस्कर तेंदुए की खाल के साथ व्यापारी बने कान्हा के अधिकारीयों के पास पहुंचे वैसे ही उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया।

टीम द्वारा आरोपी अवध लाल पड़वार पिता रामलाल उम्र 41वर्ष निवासी हर्राटोला जिला अनूपपुर ,चंद्रमणि परस्ते पिता दसरथ सिंह उम्र 25 वर्ष निवासी चुकतीपानी जिला बिलासपुर छत्तीसगढ़,दुर्गादास पिता जगतदास उम्र 32 वर्ष निवासी पंडरीपानी, जिला डिंडोरी को गिरफ्तार किया गया है तथा इनके पास से तेंदुआ चमड़ा, 1 मोटरसाइकिल, तेंदुआ का नाखून जब्त किया गया है।कान्हा की विशेष टीम का नेतृत्व कर रहे पार्क अधीक्षक सुधीर मिश्रा ने बताया कि घटना स्थल न सिर्फ डिंडोरी और अनूपपुर की सीमा से लगा हुआ है बल्कि यह क्षेत्र मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा भी है। कार्रवाई में देवेश खराड़ी परिक्षेत्र अधिकारी, शिव कुमार काकोडिय़ा परिक्षेत्र अधिकारी, विजय सिंह चौहान परिक्षेत्र अधिकारी देवी ठाकरे ,अनूप परमार,भूपेन्द ठाकरे नवीन मिश्रा ,केहर उइके,गुड्डू, संटू, दिलीप पाठक, ईश्वर परस्ते, मिथिलेश कुमार, किशन धुर्वे,नारायण मेरावी, खुशीराम बिसेन शामिल रहे।

इनका कहना है-
गिरफ्तार किये गये तीन आरोपियों में छत्तीसगढ़ का भी एक आरोपी शामिल है इससे अंतर्राजीय गिरोह सक्रिय होने की संभावना है। गिरफ्तार किये गए आरोपियों से पूछताछ में और भी खुलासे हो सकते है।
सुधीर मिश्रा,
पार्क अधीक्षक कान्हा

००००००००००

 

LEAVE A REPLY