देश के निर्माण में बाबा साहब अंबेडकर का योगदान काफी महत्वपूर्ण है-प्रधानमंत्री मोदी

0
4

नई दिल्ली। (हिन्द न्यूज सर्विस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दिल्ली में डॉक्टर अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर का उद्घाटन किया और इस मौके पर वहां मौजूद लोगों को संबोधित भी किया। उन्होंने देश के निर्माण में अंबेडकर की भूमिका पर बात करते हुए कहा, ‘देश के निर्माण में बाबा साहब अंबेडकर का योगदान काफी महत्वपूर्ण है। उनकी भूमिका को कई बार कम करने की कोशिश की गई है, लेकिन ये सारी कोशिशें नाकामयाब रहीं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि साथियों, हमारे देश में समय-समय पर ऐसी महान आत्माएं जन्म लेती रही हैं, जो ना सिर्फ सामाजिक सुधार का चेहरा बनतीं हैं, बल्कि उनके विचार देश के भविष्य को गढ़ते हैं, देश की सोच को गढ़ते हैं। ये भी बाबा साहेब की अद्भुत शक्ति थी कि उनके जाने के बाद, भले बरसों तक उनके विचारों को दबाने की कोशिश हुई, राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को मिटाने का प्रयास किया गया, लेकिन बाबा साहेब के विचारों को ऐसे लोग भारतीय जनमानस के चिंतन से हटा नहीं पाए।

अगर मैं ये कहूं कि जिस परिवार के लिए ये सब किया गया, उस परिवार से ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं, तो मेरी ये बात गलत नहीं होगी। बाबा साहेब का राष्ट्र निर्माण में जो योगदान है, उस वजह से हम सभी बाबासाहेब के ऋणी हैं। हमारी सरकार का ये प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक उनके विचार पहुंचें। विशेषकर युवा पीढ़ी उनके बारे में जाने, उनका अध्ययन करे।

और इसलिए इस सरकार में बाबा साहेब के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलो को तीर्थ के रूप में विकसित किया जा रहा है। दिल्ली के अलीपुर में जिस घर में बाबा साहेब का निधन हुआ, वहां डॉक्टर अंबेडकर राष्ट्रीय स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। इसी तरह मध्य प्रदेश के महू में, जहां बाबा साहेब का जन्म हुआ उसे भी तीर्थ के तौर पर विकसित किया जा रहा है। लंदन के जिस घर में बाबा साहेब रहते थे, उसे भी खरीदकर महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार एक मेमोरियल के तौर पर विकसित कर रही है। ऐसे ही मुंबई में इंदू मिल की जमीन पर अंबेडकर स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। नागपुर में दीक्षा भूमि को भी और विकसित किया जा रहा है। ये पंचतीर्थ एक तरह से बाबा साहेब को आज की पीढ़ी की तरफ से श्रद्धांजलि हैं।

नरेंद्र मोदी ने कहा,1950 में बाबा साहब ने कहा था कि हमें सिर्फ राजनीतिक लोकतंत्र से संतुष्ट नहीं होना चाहिए। राजनीतिक लोकतंत्र तब तक सफल नहीं हो सकता, जब तक सामाजिक लोकतंत्र हासिल न कर लें। आजादी के इतने साल बाद भी लोगों को जीवन में आर्थिक समानता नहीं आ पाई है। पीने का पानी, छोटा-सा घर, बीमा आज भी लोगों के लिए चुनौती बना हुआ है।

हमारी सरकार की योजनाएं बाबा साहब के सपने को सच करने वाली रही हैं। जनधन ने गरीब लोगों को मुख्यधारा में लाने का काम किया है। 30 करोड़ से ज्यादा लोगों के खाते खोले जा चुके हैं। 23 करोड़ से ज्यादा लोगों को रूपे कार्ड दिया गया है। अब गरीब भी रूपे कार्ड से पैसे निकाल सकता है। अब गरीब पैसे निकालने वाली लाइन में लगने से डरता नहीं है।

मोदी ने कहा, स्वच्छता अभियान के तहत देश के ज्यादातर गांव में शौचालय बन रहे हैं। एक रुपए महीने पर दुर्घटना बीमा किया जा रहा है। अब दूर-दराज के गांव में रहने वाला गरीब चिंता से मुक्त हो रहा है। बाबा साहब ने कानून की समानता, अवसर की समानता, जाति की समानता की बात कही थी। सरकार ने प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना शुरू की है। देश के 4 करोड़ घरों में बिजली कनेक्शन मुफ्त दिया जाएगा। जो घर 21वीं शताब्दी में 18वीं सदी में जीने के लिए मजबूर हैं, हम उन्हें उबारने का काम करेंगे।

मोदी ने कहा,आज भी देश में करोड़ों लोग ऐसे हैं, जिनके पास अपना घर नहीं है। सरकार का लक्ष्य है – 2022 तक हर व्यक्ति का अपना घर होगा। सरकार लोगों को मदद दे रही है, छूट दे रही है, ताकि लोगों में समानता का भाव आए और कोई भी घर से वंचित न रहे।

००००००००००००

LEAVE A REPLY