भारत की मानुषी छिल्लर बनीं मिस वल्र्ड

0
20

नई दिल्ली। (हिन्द न्यूज सर्विस)। भारत की मानुषी छिल्लर ने मिस वल्र्ड 2017 का खिताब अपने नाम कर लिया है। मिस वल्र्ड 2017 का ग्रैंड फिनाले चीन में आयोजित किया गया था। 17 वर्षों के बाद किसी भारतीय सुंदरी ने यह खिताब जीता है। हरियाणा की मॉडल और मिस इंडिया मानुषी छिल्लर ने तमाम सुंदरियों को पीछे छोड़ते हुए यह ताज अपने नाम किया है। इससे पहले मिस वल्र्ड का खिताब साल 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने जीता था।

मानुषी छिल्लर ने सान्या शहर एरीना में आयोजित समारोह में यह खिताब अपने नाम किया है। मिस वल्र्ड 2016 की विजेता प्यूटरे रिको की स्टेफनी डेल वैले ने मानुषी को ताज पहनाया।

हरियाणा में पैदा हुईं 20 साल की मानुषी ने इससे पहले मिस इंडिया-वल्र्ड का खिताब जीता था। मिस वल्र्ड प्रतियोगिता में कुल 121 सुदंरियों ने भाग लिया। पिछले साल अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में आयोजित मिस वल्र्ड प्रतियोगिता में प्यूर्तो रिको की स्टेफनी डेल वेल विजेता बनी थीं।

14 मई 1997 को जन्मी मानुषी छिल्लर, 25 जून 2017 को 54वें फेमिना मिस इंडिया वल्र्ड 2017 के ताज से नवाजी गयी थीं। छिल्लर मेडिकल की छात्रा हैं। अब वह वह मिस वल्र्ड प्रतियोगिता की 67वीं विजेता बन चुकी हैं। मानुषी, पूर्व मिस वल्र्ड प्रियंका चोपड़ा को अपना आदर्श मानती हैं।

इस सौंदर्य प्रतियोगिता में मिस इंडिया मानुषी से सवाल पूछा गया था कि किस प्रोफेशन को सबसे ज्यादा तनख्वाह मिलनी चाहिए और क्यों।

मानुषी ने जवाब दिया, मुझे लगता है कि एक मां को सबसे ज्यादा सम्मान दिया जाना चाहिए। मैं पैसे के बारे में नहीं सोचती। ऐसा इसलिए होना चाहिए, क्योंकि मां किसी को प्यार और सम्मान देती है। मेरी मां मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी प्रेरणा हैं। उन्हें सबसे ज्यादा सम्मान मिलना चाहिए।

इस प्रतियोगिता में पहली रनर-अप मिस इंग्लैंड स्टेफ्नी हिल रहीं, जबकि मिस मेक्सिको एंड्रिया मेजा को सेकेंड रनर-अप पर के तौर पर संतोष करना पड़ा। इन दोनों के साथ मानुषी का नजदीकी मुकाबला था, लेकिन अंत में बाजी मानुषी मार ले गयीं।

अपनी बड़ी सफलता के बाद उत्साहित होकर मानुषी ने कहा कि, मुझे अभी भी यकीन नहीं हो रहा है कि मैंने मिस वलर््ड का खिताब जीत लिया है। इसे जीतने वाली मैं पांचवी इंडियन हूं और यह ख्याल ही मुझे बहुत गर्व और खुशी से भर देता है। मेरा परिवार, दोस्तों और प्रशसंकों ने मुझे जो सपोर्ट दिया है, उसके चलते ही ये सफर कामयाब हो पाया है। उन्होंने साउथ अफ्रीका, वियतनाम, इंडोनेशिया और फिलीपींस की प्रतिभागियों को हराकर यह खिताब जीता।

मानुषी हरियाणा के झज्जर जिले के बहादुरगढ़ के गांव बामनौली निवासी डॉ. मित्रवसु की पुत्री हैं। फिलहाल उनका परिवार दिल्ली में रहता है। डॉ. मित्रवसु और उनकी पत्नी डॉ नीलम रोहतक पीजीआइ में चिकित्सक भी रह चुके हैं। दोनों के रोहतक पीजीआइ में कार्यरत रहने के दौरान ही 14 मई 1997 को मानुषी का जन्म हुआ।

गौरतलब है कि भारत की झोली में मिस वल्र्ड का खिताब 17 साल बाद आया है। मानुषी से पहले, वर्ष 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने यह खिताब अपने नाम किया था। 1966 में रीता फारिया पहली भारतीय मिस वल्र्ड बनी थीं। उनसे पहले तक किसी भी एशियाई महिला को मिस वल्र्ड का खिताब नहीं मिला था। इसके बाद वर्ष 1994 में ऐश्वर्या राय ने इतिहास रचा और मिस वल्र्ड का खिताब अपने नाम किया। ऐश्वर्या के बाद वर्ष 1997 में डायना हेडन मिस वल्र्ड बनीं। वर्ष 1999 में युक्ता मुखी विश्व सुंदरी बनीं। आखिरी बार, यानी वर्ष 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने मिस वल्र्ड का खिताब जीता था।

००००००००

LEAVE A REPLY