रमन के गोठ कार्यक्रम-मुख्यमंत्री ने बच्चों को बाल दिवस की दी बधाई

0
48

दंतेवाड़ा। (हिन्द न्यूज सर्विस/वीएनएस)।  जिले में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ कार्यक्रम की 27 वीं कड़ी को लोगों ने पूरे उत्साह के साथ सुना। जिले के ग्रामीण ईलाकों में ग्रामीणों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को तन्मयता के साथ सुना और तेंदूपत्ता बोनस प्रदान करने तथा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए पुख्ता व्यवस्था करने के लिए राज्य सरकार के निर्णय को सार्थक पहल निरूपित किया। वहीं नगरीय क्षेत्रों में नागरिकों ने रमन के गोठ को ध्यानपूर्वक सुना। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अपने मासिक रेडिया वार्ता में प्रदेशवासियों को सम्बोधित करते हुए राजधानी रायपुर में 01 नंवबर से 5 नंवबर तक आयोजित राज्योत्सव तथा 03 नवंबर को सभी जिलों में राज्योत्सव के अवसर पर उत्साह के साथ सक्रिय सहभागिता निभाने के लिए कृतज्ञता व्यक्त की ओर कहा कि देश के राष्ट्रपति माननीय श्री रामनाथ को कोविंद तथा उप राष्ट्रपति माननीय श्री वेंकया नायूड ने राज्योत्सव के दौरान प्रदेशवासियों की खुशी में शामिल होकर इसे अविस्मणीय बना दिया। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के बच्चों को आगामी 14 नंवबर को बाल दिवस की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना,अमृत योजना,चिरायु योजना, बाल मधुमेह सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री बाल भविष्य योजना इत्यादि की विस्तृत जानकारी देते हुए बच्चों के भविष्य गढऩे के प्रति कटिबतद्ता व्यक्त की।

मुख्मंत्री डॉ.रमन सिंह ने खरीफ विपणन वर्ष 2017 के तहत राज्य में समर्थन मूल्य पर धान एवं मक्का खरीदी व्यवस्था बारे में बताया कि प्रदेश के मेहनतकश किसानों के धान एवं मक्का खरीदी हेतु पुख्ता व्यवस्था की गई है। पूरे राज्य में कुल 1092 खरीदी केन्द्र बनायेे गये है। इन खरीदी केन्द्रों पर 15 नवंबर 2017 से 31 जनवरी 2018 तक समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन किया जायेगा। इस वर्ष समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करने के लिए छत्तीसगढ़ के 15 लाख 79 हजार किसानों ने पंजीयन करवाया है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने इस साल समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के तहत प्रति क्विंटल 80 रूपये बढ़ोत्तरी करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के किसानों से धान को अच्छी तरह साफ-सफाई और सुखा कर खरीदी केन्द्रों में विक्रय किये जाने का आग्रह किया। उन्होंने ने बताया कि प्रदेश के इन सभी केन्द्रों में 15 नंवबर 2017 से 31 मई 2018 तक समर्थन मूल्य पर मक्का की खरीदी की जायेगी। राज्य में मक्का का रकबा और उत्पादन बढऩे के फलस्वरूप किसानों के आय में बढोत्तरी होने की उम्मीद व्यक्त करते हुए कहा कि अब इस दिशा में किसानों को प्रति क्विंटल एक हजार 425 रूपये की दर से भुगतान किया जायेगा। उन्होंने समर्थन मूल्य पर धान एवं मक्का खरीदी हेतु पारदर्शी व्यवस्था के तहत किसानों को बैंक खाते जरिये भुगतान सुनिश्चित करने की बात कही। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ में आगामी 01 दिसंबर से 10 दिसंबर तक तेन्दूपत्ता बोनस तिहार आयोजन के बारे में बताया कि राज्य सरकार ने तेन्दूपत्ता संग्राहकों को प्रोत्साहन राशि प्रदान करने का निर्णय लिया है। जिससे राज्य के 14 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहक परिवारों को तेंदूपत्ता बोनस का भुगतान किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सरकार ने तेंदूपत्ता संग्रहक परिवारों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए एक हजार 800 रूपाये प्रति मानक बोरा पारीश्रमिक राशि को बढ़ाकर ढाई हजार रूपये करने का निर्णय लिया है। इस वर्ष राज्य के 901 प्राथमिक वनोपज सहाकारी समितियों के इस सभी 14 लाख तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों को 274 करोड़ 38 लाख रूपये तेंदूपत्ता प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जायेगा। उन्होंने तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के सदस्यों को चरणपादुका वितरण तथा बच्चों की पढ़ाई हेतु छात्रवृत्ति प्रदाय की जानकारी देते हुए बताया कि चरण पादुक से संग्राहकों को भरी दुपहरी में तेंदूपत्ता संग्रहण करने में सहूलियत होने के साथ ही ही उन्हें राहत मिली है। तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए राज्य सरकार ने पूरा ध्यान केन्द्रीत किया है। उन्हें उच्च शिक्षा हेतु छात्रवृत्ति प्रदान करने के फलस्वरूप तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के बच्चे आज इंजीनिरिंग और चिकित्सा महाविद्यालयों में अध्ययनरत है, आने समय में इन परिवारों के बच्चें डॉक्टर, इंजीनियर सहित अधिकारी बनकर समाज की सेवा में अपना अमूल्य योगदान निभायेंगे। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के देश के हर घर में 30 सितंबर 2018 तक बिजली देने के लक्ष्य का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य में करीब 99 प्रतिशत गांवों तथा मजरा-टोला का विद्युतीकरण हो चुका है, शेष गांवों तथा मजरा-टोला का विद्युतीकरण शीघ्र-पूरा कर छत्तीसगढ़ में ऊर्जा उत्सव मनायेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने मासिक रेडियो वार्ता में वरिष्ठ नागरिकों और बुजुर्गों की देख-रेख उनका ध्यान रखने पर बल देतेे हुए युवाओं से माता-पिता के बुढापे के दौरान सहारा बनने का आग्रह किया तथा उनके प्रति संवेदनशीलता होकर बुजुर्गों के सीख एवं अनुभव के जरिये जीवन को सार्थक बनाने कहा। उन्होंने वरिष्ठ नागारिकों के लिए सीनियर सिटीजन सेल का गठन सहित हेल्पलाईन के बारे में बताया तथा सहायता के लिए आवश्यक पहल करने पर जोर दिया। कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय दंतेवाड़ा के बच्चों ने उत्साह पूर्वक रमन के गोठ सुनकर मन में खुशी में व्यक्त की।

०००००००००००

LEAVE A REPLY