सागर: शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय की छात्राओं के लिए फ्री डाइविंग लाईसेंस की प्रकिृया शुरू

0
373

सागर। (हिन्द न्यूज सर्विस)। प्रदेश सरकार में नवनियुक्त परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत की पहल पर शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय की छात्राओं के लिए फ्री डाइविंग लाईसेंस की प्रकिृया शुरू की गई है। उच्च शिक्षा विभाग के क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक तथा महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जीएस रोहित ने महाविद्यालय छात्राओं के दल को फ्री लाइसेंस बनवाने के लिए क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय रवाना किंया। जहॉ क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी प्रदीप शर्मा की निगरानी में लाइसेंस बनाने की प्रकिृया शुरू की गई।

प्रदेश सरकार के परिवाहन विभाग द्वारा महिला वर्ग के लिए फ्री लाईसेंस देने की शुरू की गई योजना के लिए महाविद्यालय की 68 छात्राओं ने अपने आवेदन दिए थे। इन छात्राओं को लाईसेंस देने के लिए परिवहन विभाग द्वारा किए जाने वाले परीक्षण एवं संबंधित प्रकिृया को पूरा करने के लिए प्राचार्य डॉ. जीएस रोहित द्वारा राजनीति विज्ञान विभाग की अध्यक्ष एवं डॉ. संगीता मुखर्जी, डॉ. अंकुर गौतम, डॉ. अर्चना यादव व डॉ. सत्या सोनी को जिम्मेदारी सौपते हुए छात्राओं के दल को क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय रवाना किया।

प्राचार्य डॉ. जीएस रोहित ने बताया कि महाविद्यालय की इच्छुक सभी छात्राओं के ड्राइविंग लाइसेंस बनने के बाद महाविद्यालय में कार्यक्रम आयोजित कर परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत के कर-कमलों द्वारा उनका सामुहिक रूप से वितरण किये जाने के प्रयास किए जाएंगे।

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं पीसीसी सदस्य डॉ. संदीप सबलोक ने परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत की इस अभिनव पहल का स्वागत करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार की स्थापना होने तथा गाविंद राजपूत के परिवहन मंत्री बनने के बाद महाविद्यालयीन छात्राओं को मुफ्त ड्राईविंग लाइसेंस बनाने का पूरे प्रदेश में यह पहला प्रयोग होगा। डॉ. सबलोक ने आगे कहा कि उनकी इस पहल से महिला सशक्तिकरण को नई दिशा मिलने के साथ ही वाहनों के अवैद्य परिचालन से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने में भी मदद मिलेगी। इसके साथ ही ये छात्राएं वैद्य वाहन चालन से अपने परिवार को जागरूक करने की दिशा में सहयोगी भूमिका निभा सकेगी।

इस दौरान महाविद्यालय के अतिथि विद्वान सहायक प्राध्यापको डॉ. संदीप सबलोक, डॉ. उमाकांत स्वर्णकार, डॉ. स्वदीप श्रीवास्तव, डॉ. प्रमेष गौतम, डॉ. अषोक पन्या, डॉ. भरत शुक्ला ने उपस्थित होकर अपना सहयोग दिया।

०००००००

LEAVE A REPLY