सागर में अब कहां तनेगी रियल इस्टेट ?

0
146

०-अवधेश पुरोहित
भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)।पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के १३ वर्षों के शासनकाल में बही ऊपर से लेकर नीचे तक भ्रष्टाचार की गंगोत्री में डुबकी लगाकर भाजपा के नेता उमा भारती के शासनकाल में जो अपनी सम्पत्ति और कारोबार बेचकर भोपाल में रहने का मन बना रहे थे लेकिन शिवराज सिंह के सत्ता पर काबिज होते ही लगता है कि उनकी ऐसी लाटरी खुली और इस दौरान भले ही सागर का भले ही विकास नजर आता हो लेकिन सागर से विश्व का प्रसिद्ध पर्यटन क्षेत्र खजुराहो के लिये जाने वाले लोगों को जब रास्ते में शिवराज सरकार में हुए एक भाजपा नेता के विकास में तनी अट्टालिकाएं को देखकर उनके मुंह से यह अचानक निकल पड़ता है कि वाह यह है भाजपा और शिवराज के शासनकाल का सबका साथ सबका विकास का सही स्वरूप, इस स्वरूप को देखकर तत्कालीन भारतीय जनशक्ति की राष्ट्रीय अध्यक्ष का वह बयान भी लोगों को स्मरण हो जाता है जिसमें वह कहा करती थीं कि शिवराज सरकार में उन भाजपा नेताओं की हैसियत में इस तरह से इजाफा हुआ जिनकी हैसियत टूटी साइकल तक की नहीं थी लेकिन आज वह शिवराज सरकार में बही भ्रष्टाचार की गंगोत्री के चलते आलीशान भवनों और लग्जरी वाहनों में फर्राटे लेते नजर आ रहे हैं। प्रदेश की जनता ने शिवराज के १३ वर्षों के शासन को सत्ता से बेदखल जरूर किया लेकिन उसी बुंदेलखण्ड के कांग्रेसी नेता को उसी परिवहन विभाग का मुखिया बनाया गया जिस विभाग के मुखिया रहते सागर के भाजपा नेता और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रीमण्डल में परिवहन मंत्री रहे भूपेन्द्र सिंह ने परिवहन विभाग के मुखिया रहते जो आकूत सम्पत्ति में इजाफा किया वह सभी को नजर आ रहा है और उनकी इस शिवराज सरकार में बनी इस रीयल इस्टेट को देखकर अब सागर के लोग यह चर्चाएं चटकारे लेकर करते नजर आ रहे हैं कि कमलनाथ सरकार में सागर के ही जनप्रिय नेता गोविंद सिंह राजपूत को परिवहन विभाग का दायित्व सौंपा गया अब इस विभाग के मुखिया होने के नाते राजपूत कहां भूपेन्द्र सिंह की तरह अपनी रीयल इस्टेट बनाएंगे इसको लेकर जनमानस में तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त हैं, तो वहीं यह चर्चा भी लोग चटकारे लेकर करते नजर आ रहे हैं कि कमलनाथ सरकार में परिवहन मंत्री गोविन्दसिंह राजपूत जो कि पूर्व परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह के होने वाले समधी हैं, समधी होने के नाते भूपेन्द्र सिंह ने गोविंद सिंह राजपूत को परिवहन विभाग की वह सारी गतिविधियों से अवगत करा दिया गया होगा जिनके चलते उन्होंने सागर ही नहीं राजधानी में जिस बंगले में भूपेन्द्र सिंह रहते थे उसको भी आलीशान और सर्वसुविधायुक्त दो बंगलों का एक बंगला तैयार कर अपनी शान में इजाफा किया था। उन्हीं की तर्ज पर कदमताल कर वर्तमान परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत को भी जो बंगला उनके रहने के लिये आवंटित किया गया उसको सर्वसुविधा युक्त बनाने की दिशा में कदम बढ़ाया। सर्वसुविधायुक्त तैयार हो रहे इस बंगले को देखकर अब यह चर्चा राजधानी से लेकर सागर जिले के जनमानस में लोग चर्चा करते नजर आ रहे हैं कि आखिर अपने होने वाले समधी की पूर्व परिवहन मंत्री से कदमताल कर वह सागर में कहां उनकी तरह अपनी रीयल इस्टेट तैयार कब और कहां करेंगे लोगों को अब उस दिन की प्रतीक्षा है। साथ ही इस बात को लेकर भी प्रतीक्षा है कि गोविन्द सिंह राजपूत पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के हैं उन्हीं सिंधिया को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा अपनी बहन प्रियंका के साथ-साथ उत्तरप्रदेश की कमान सौंपी है, उन्हीं सिंधिया की छवि निखारने और उत्तरप्रदेश में उनकी जड़ें जमाने पर राजपूत कितना परिवहन विभाग का कितना धन खर्च करेंगे जिसके बदौलत उत्तरप्रदेश में सिंधिया जनमानस में जगह बना सकें।

०००००००००००

LEAVE A REPLY