विनोद वर्मा को दो महीने बाद मिली जमानत

0
75

रायपुर। (हिन्द न्यूज सर्विस)। छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित सेक्स सीडी कांड के आरोपी विनोद वर्मा को गुरुवार को रायपुर कोर्ट से जमानत मिल गई। वर्मा को कोर्ट ने जमानत अब तक चालान पेश नहीं होने के कारण दी है।

छत्तीसगढ़ में राजनीतिक भूचाल लाने वाले कथित सीडी कांड की जांच सीबीआई कर रही है। इस मामले में सीबीआई ने दो एफआइआर दर्ज की है। दोनों एफआइआर पहले राज्य पुलिस ने अलग-अलग दर्ज की थी।

विनोद वर्मा के वकील फैजल रिजवी के कहा कि, वर्मा को सीबीआई स्पेशल कोर्ट के न्यायाधीश शांतनू देशलहरा ने जमानत दी है। रिजवी ने कहा कि, पुलिस 60 दिनों में चालान पेश नहीं कर पाई। इस आधार पर ही जमानत दी गई है।

सीबीआई कोर्ट ने वर्मा को 1 लाख रुपए के मुचलके पर जमानत दी है, लेकिन वर्मा को महीने में 2 बार सीबीआई दफ्तर में हाजिरी लगानी होगी।

जेल से रिहाई के वक्त वर्मा के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और कांग्रेस के कई नेता मौजूद रहे। सीडी सामने आने के बाद एसआईटी गठित की गई, लेकिन मामला तूल पकड़ा और चौतरफा विरोध के बाद राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से सीबीआई जांच की अनुशंसा कर दी। करीब 15 दिनों से सीबीआई इस प्रकरण में जांच कर रही है। वर्मा से जेल में सीबीआई ने पूछताछ की, लेकिन तय समय सीमा 60 दिन में चालान पेश नहीं कर पाने का लाभ वर्मा को मिल गया।

जेल से रिहाई के बाद वर्मा ने कहा- मैंने सिर्फ पत्रकारिता की, कांग्रेस ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लिया, क्या ये गुनाह है? बता दें कि इस प्रकरण में हैदराबाद जांच के लिए भेजी गई सीडी की रिपोर्ट अब तक नहीं आई है। हालांकि सीडी सार्वजनिक होने के कुछ ही घंटे बाद एक और सीडी सामने आई, जिसमें बताया गया कि मंत्री की जगह कोई और शख्स है, मंत्री के चेहरे का इसमें इस्तेमाल किया गया है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत की कथित सीडी मामले में विनोद वर्मा को गाजियाबाद से 27 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। कांग्रेस नेता भूपेश बघेल और विनोद वर्मा पर फर्जी सीडी बनाकर फिरौती मांगने और ब्लैकमेल करने का आरोप है। इस मामले में छत्तीसगढ़ के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत ने इन दोनों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। उनकी शिकायत के आधार पर एफआइआर दर्ज करते हुए राज्य पुलिस ने गाजियाबाद स्थित घर विनोद वर्मा को गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस ने दावा किया था कि विनोद वर्मा के घर से बड़ी संख्या में कथित सीडी की कापी बरामद की गई है। लेकिन विपक्ष का आरोप था कि राज्य सरकार अपने मंत्री की करतूत छिपाने के लिए पुलिस का गलत इस्तेमाल कर रही है।

०००००००००००

 

 

LEAVE A REPLY