राजनीतिक हताशा में सैनिकों की शहादत का अपमान कर रहे कांग्रेस नेता: राकेश सिंह

0
48

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी की बढ़ती लोकप्रियता के चलते कांग्रेस और उसके नेता लोकसभा चुनाव में पिछडऩे लगे हैं। इसी हताशा में अपने राजनीतिक वजूद को बचाए रखने के लिए वे हमारे सैनिकों के बलिदान और उनके त्याग का अपमान करने वाले बयान दे रहे हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सलाहकार और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रौदा के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।

कांग्रेस अध्यक्ष के सलाहकार सैम पित्रौदा ने शुक्रवार को ट्वीट करते पुलवामा हमले और उसके बाद भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के बारे में कहा था कि मैं पुलवामा हमले के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता, इस तरह के हमले होते रहते हैं। उन्होंने कहा था कि मुंबई में भी हमला हुआ था और तब हम भी प्रतिक्रिया व्यक्त कर सकते थे, अपने विमानों को हमले के लिए भेज सकते थे, लेकिन ये सही तरीका नहीं था। सैम पित्रोदा के इस बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने कहा कि पूरा देश पुलवामा हमले के बारे में जानता है, इस हमले में देश ने 40 से अधिक वीर जवानों को खोया है और देश के लोग उन जवानों के परिजनों के साथ हमेशा उनकी कुर्बानी को याद रखेंगे। ऐसे में कांग्रेस नेता का यह कहना कि मैं इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता, ऐसे हमले होते रहते हैं, उन जवानों की शहादत का अपमान है। राकेश सिंह ने कहा कि मुंबई हमले के बारे में पित्रौदा का बयान आतंकियों और उनके आका पाकिस्तान को माकूल जवाब देने में यूपीए सरकार की नाकामी को ढांकने जैसा है। उन्होंने कहा कि यदि उसी समय तत्कालीन यूपीए सरकार ने आतंकियों को उन्हीं की भाषा में जवाब दे दिया होता, तो ये आतंकवादी और उनका आका पाकिस्तान देश में दोबारा ऐसे हमलों की हिम्मत नहीं कर पाते। राकेश सिंह ने कहा कि अब कांग्रेस के नेता कुछ भी कहकर अपनी सरकार के निकम्मेपन को ढांकने का प्रयास करें, लेकिन देश की जानता यह जान गई है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही देश का स्वाभिमान और उसकी सीमाएं सुरक्षित रह सकती हैं।

राकेश सिंह ने सैम पित्रौदा के बयान को कांग्रेस पार्टी द्वारा निजी बयान बताने पर टिप्पणी करते हुए कहा कि सेना का अपमान करना तथा अपने ही नेताओं के बयानों से पल्ला झाडऩा कांग्रेस की परंपरा और रणनीति रही है। अब तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिग्विजयसिंह, बी.के हरिप्रसाद, पी. चिदंबरम, कपिल सिब्बल सहित अन्य नेता अपने बयानों से सेना और सैनिकों के पराक्रम का अपमान कर चुके हैं, लेकिन हर बार पार्टी उसे अपने नेताओं की निजी राय बताकर उससे पल्ला झाड़ती रही है। सिंह ने कांग्रेस की इस परंपरा पर सवाल उठाते हुए पूछा कि यदि कांग्रेस के सभी प्रमुख नेताओं की राय पार्टी की राय नहीं है, तो फिर ये नेता अब तक पार्टी में क्यों बने हुए हैं ? उन्होंने कहा कि वास्तव में अपनी इस रणनीति से कांग्रेस पार्टी देश की जनता को छलना चाहती है। एक तरफ वह अपने नेताओं से बयान दिलवाकर अपने वोट बैंक को साधने का काम करती है, तो दूसरी तरफ राष्ट्रवादी दल का भ्रम बनाए रखने के लिए अपने ही नेताओं के बयानों से किनारा कर लेती है।

०००००००००००

LEAVE A REPLY