भारत ने वेस्टइंडीज को आठ विकेट से हराया

0
23

गुवाहाटी। (हिन्द न्यूज सर्विस)। कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा के शतकीय प्रहारों के दम पर भारत ने रविवार को पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में वेस्टइंडीज को आठ विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही भारत ने सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। वेस्ट इंडीज ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर शिमरॉन हेटमेयर के शतक की बदौलत 322 रनों की चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में भारत ने 42.1 ओवर में दो विकेट खोकर 326 रन बनाकर मैच जीत लिया।

विराट कोहली ने इस बीच अपने वनडे करियर का 36वां शतक लगाया। बतौर कप्तान यह कोहली का 14वां वनडे शतक था। अब सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले कप्तानों की लिस्ट में वह सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग से पीछे हैं जिन्होंने 22 वनडे शतक लगाए।

कोहली आखिर 140 रन बनाकर देवेंद्र बीशू की गेंद पर स्टंप हो गए। उन्होंने 107 गेंदों पर 21 चौके और 2 छक्के लगाए। उन्होंने रोहित शर्मा के साथ मिलकर 246 रनों की साझेदारी की। यह भारत के लिए रनों का पीछा करते हुए सबसे बड़ी साझेदारी थी।

कोहली के बाद रोहित ने भी शानदार शतक लगाया। यह उनके वनडे करियर का 20वां शतक था। रोहित 152 रन बनाकर नाबाद रहे।

323 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सिर्फ 10 के स्कोर पर उसके सलामी बल्लेबाज शिखर धवन चार रन बनाकर ओशेन थॉमस की गेंद पर बोल्ड हो गए। वेस्ट इंडीज के तेज गेंदबाज केमोर रोच और थॉमस अच्छी रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे थे। भारतीय बल्लेबाजों के लिए शुरुआत में रन बनाना आसान नहीं था लेकिन एक बार जमने के बाद रोहित और कोहली ने विकेट पर टिककर बल्लेबाजी की और विकेट के हर ओर शॉट लगाए।

मेहमानों के लिए पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही। वेस्ट इंडीज का पहला विकेट 19 के कुल स्कोर पर चंद्रपाल हेमराज के रूप में गिरा। वनडे क्रिकेट में पदार्पण करने वाले हेमराज ने नौ रन बनाए। उन्हें मोहम्मद शमी ने बोल्ड कर पविलियन की राह दिखाई। इसके बाद कीरेन पॉवेल (51) ने शाई होप (32) के साथ मिलकर 65 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम को मजबूती देने की कोशिश की।

खलील अहमद ने शिखर धवन के हाथों पॉवेल को कैच आउट करा मेहमान टीम का दूसरा विकेट गिरा दिया। पॉवेल ने अपनी 39 गेंदों की पारी में छह चौके और दो छक्के लगाए। वेस्ट इंडीज के खाते में एक रन और ही जुड़ पाया था कि 86 के स्कोर पर युजवेंद्र चहल ने मार्लन सैमुअल्स को खाता खोलने का मौका दिए बगैर बोल्ड कर पविलियन भेज दिया। यहां से हेटमेयर ने वेस्ट इंडीज को लडख़ड़ाती पारी को संभालने में अहम भूमिका निभाई। हेटमेयर ने होप के साथ 28 रन जोड़े और टीम को 100 के पार पहुंचाया। 114 के स्कोर पर शमी ने होप को पविलियन का रास्ता दिखाया। वह विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी के हाथों लपके गए। हेटमेयर ने इसके बाद, रोवमैन पॉवेल (22) के साथ 74 रन जोड़कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। लेकिन, रोवमैन अधिक समय तक उनका साथ नहीं दे पाए और 188 के स्कोर पर रवींद्र जडेजा की गेंद पर बोल्ड होकर पविलियन लौट गए।

जडेजा ने हेटमेयर को भी पविलियन का रास्ता दिखाया, लेकिन पिच छोडऩे से पहले हेमटेर ने छठे विकेट के लिए कप्तान जेसन होल्डर (38) के साथ 60 रन जोड़कर वेस्ट इंडीज का स्कोर 248 तक पहुंचा दिया। इसी स्कोर पर हेटमेयर, जडेजा की गेंद पर पदार्पण वनडे मैच खेल रहे ऋषभ पंत के हाथों लपके गए।

हेटमेयर ने अपने वनडे करियर का तीसरा शतक बनाया। 13वां वनडे मैच खेल रहे हेटमेयर ने महज 78 गेंदों में 106 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और छह छक्के लगाए। चहल ने इसके बाद होल्डर का साथ देने आए एश्ले नर्स (2) को मैदान पर टिकने का मौका दिए बगैर पगबाधा आउट कर वेस्ट इंडीज का सातवां विकेट भी गिरा दिया। एश्ले को पविलियन भेजने के बाद चहल ने कप्तान होल्डर को भी 278 के स्कोर पर पविलियन की राह दिखाई।

इसके बाद, बिशू और रोच ने बिना कोई विकेट गंवाए 44 रन और जोड़कर टीम को 322 के स्कोर तक पहुंचाया और इसी स्कोर पर वेस्ट इंडीज की पारी समाप्त हो गई। भारत के लिए युजवेंद्र चहल ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए, वहीं जडेजा और शमी को दो-दो सफलताएं मिली। अहमद को एक विकेट मिला।

०००००००००

LEAVE A REPLY