भाजपा नेताओं ने दी स्व. जेटली जी को श्रद्धांजलि

0
20

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। प्रदेश भाजपा के नेताओं ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर दुख जताया है। पार्टी के नेताओं ने श्री जेटली जी के निधन को बड़ी क्षति बताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को राजधानी दिल्ली स्थित एम्स में निधन हो गया। उनके निधन पर प्रदेश भाजपा के नेताओं ने उन्हें याद करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं।

केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि अरूण जेटली देश के राजनीतिक परिदृश्य पर एक महत्वपूर्ण नक्षत्र थे। उन्होंने कार्यकर्ता और नेता के रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन किया। आज दुर्भाग्य से वे हम सबके मध्य नहीं हैं, उनके निधन से सार्वजनिक जीवन में जो रिक्तता आई है, उसकी भरपाई संभव नहीं है।

केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि आदरणीय अरुण जेटलीजी के निधन की हृदय विदारक खबर से अत्यंत दु:खी और स्तब्ध हूं। भाजपा परिवार के अहम सदस्य के रूप में उनका मार्गदर्शन और साथ वर्षों तक रहा। उनका निधन भारतीय राजनीति में और मेरी व्यक्तिगत क्षति हैं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने स्व. जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अरुण जेटली जी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं। इससे दु:खद खबर हो नहीं सकती। उनका जाना, भारतीय समाज, राष्ट्र की बहुत बड़ी क्षति है। मेरी व्यक्तिगत क्षति है। राजनीति, विशेषकर संसदीय राजनीति में मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा। भगवान् से प्रार्थना है कि स्वर्गीय अरुण जेटली जी की आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें। साथ ही उनके परिवार को इस दु:ख को सहन करने की शक्ति दें।

राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने उनके निधन को दुखद बताते हुए कहा कि सहज विश्वास नहीं हो रहा कि अरुण जेटली जी अब हमारे बीच नहीं रहे। कानून और वित्तीय मामलों में उनका अध्ययन काफी गहरा था। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दे और परिवार को ये अपार दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे।

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा कि आदरणीय जेटली जी के निधन का दुखद समाचार दुखी कर गया। कुछ नेताओं के रिक्त स्थान कभी नहीं भरे जाते। उनका जाना देश और दल के लिए बड़ी क्षति है। महत्वपूर्ण विकास यात्रा के बीच इस व्यक्तित्व का असमय जाना बड़ी क्षति है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि अरुण जेटली जी का निधन मेरी निजी क्षति है, क्योंकि मेरे बड़े भाई अब मुझे छोड़कर चले गए। मैं इस गहरे दुख की घड़ी में उनके परिवार के साथ हूं।

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि श्री जेटली जी के निधन से देश ने एक विजनरी नेता खो दिया है। भार्गव ने कहा कि श्री जेटली जी का मध्यप्रदेश से जुड़ाव रहा। उनकी कुशल रणनीति में 2003 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने जीत दर्ज की। 66 वर्ष की आयु में उनका असमय चले जाना ना सिर्फ उनके परिजनों के लिए बल्कि भारतीय जनता पार्टी परिवार के लिए भी एक वज्रपात है।

००००००००००००

LEAVE A REPLY