फोन पर पत्नी बोली- ‘तलाक, तलाक तलाक, आपा खो पति ने खुद को फांसी पर लटकाया

0
220

कोरबा। (हिन्द न्यूज सर्विस)। परिजनों की सहमति के बिना निकाह करने वाले एक जोड़े पर उस वक्त गज गिर गई, जब युवती के परिजन उत्तरप्रदेश से यहां पहुंच युवती को अपने साथ ले गए और बाद में मोबाइल पर तलाक करा दिया। युवती के तलाक देने की बात सुनने के बाद युवक ने अपना आपा खो बैठा और फांसी लगाकर जान देने की कोशिश की। आसपास के लोगों ने किसी तरह उसे फंदे से नीचे उतारा और गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल दाखिल कराया। युवक की जान तो बच गई, लेकिन फंदा लगाने के चलते उसके गले आई चोंट के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां उसका इलाज चल रहा है।

उत्तरप्रदेश के सुल्तानपुर जिले के दर्जीपुर में रहने वाला चंदन खान पिता शाकिर (22) ने दर्जीपुर के ही निकट स्थित एक गांव में रहने वाली एक 19 वर्षीय स्वजातीय युवती को करीब 7 माह पहले अपने साथ कोरबा ले आया था। दोनों का निकाह कोरबा के कुआंभट्ठा में मुड़ापार में रहने वाले एक मौलाना ने कराई थी।

उसके बाद से कुआंभट्ठा में रहने वाले अपने भाई जमशेद के घर दोनों रह रहे थे। बताया जा रहा है कि 10 अप्रैल को युवती के माता-पिता जमशेद के घर पहुंचे और अपनी पुत्री से मुलाकात कर उसे अपने साथ उत्तरप्रदेश ले जाने के लिए राजी कर लिया।

11 अप्रैल को युवती को उसके परिजन सुल्तानपुर ले गए। वहां से 14 अप्रैल को युवती से चंदन खान को मोबाइल पर परिजनों ने बात कराया और उस पर तलाक देने दबाव बनाने लगे। चंदन का कहना है कि उसके परिजन बेहद मारपीट कर रहे थे, इसलिए मैं यह सोचकर तीन बार तलाक कह दिया कि वह फिर से उससे निकाह कर लेगा।

युवती के परिजनों ने 4 मई को फिर से मोबाइल पर चंदन खान से संपर्क कराया और इस बार युवती से तलाक कहने को कहा। उसने अपने भाई और परिवार के अन्य सदस्यों पर मारपीट का आरोप लगाया। युवती ने मोबाइल पर चंदन को फोन कर उसके साथ कोरबा आने से इनकार कर दिया। परिजनों के दबाव में आकर युवती ने भी तलाक… तलाक… तलाक… कह दिया और इसके साथ ही फोन बंद कर दिया गया।

परेशान होकर उसने शुक्रवार सुबह फांसी लगाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। इसी वक्त पड़ोस की एक महिला की नजर फंदे से लटक रहे चंदन पर पड़ गई। महिला ने तत्काल घर के दूसरे लोगों को इसकी जानकारी दी जिसके बाद कमरे का दरवाजा तोड़कर घरवाले भीतर प्रवेश गए और रस्सी काटकर युवक को फंदे से नीचे उतारा।

चंदन खान का कहना है कि उसने बकायदा रीति-रिवाज से निकाह किया, इस लिहाज से अब वह उसकी पत्नी है। मेरी पत्नी को उसका भाई बुरी कदर पीट रहा था, इसलिए मैं दबाव में आकर मोबाइल पर तलाक दिया। मुझे यह नहीं पता था कि मेरी पत्नी पर भी दबाव डालकर इसकी सहमति मोबाइल पर दिलाते हुए तलाक करा दिया जाएगा। चंदन ने पुलिस से गुहार लगाई है कि उसकी पत्नी को उसके परिजनों के चंगुल से आजाद कराकर उसे वापस दिलाएं।

चंदन खान अहमदाबाद में कपड़ा का कारोबार करता है। प्रेम विवाह करने के नाम से वह सुल्तानपुर से भागकर अपने भाई जमशेद के पास कोरबा पहुंचा था। उसका कहना है कि मोबाइल पर तलाक देने के बाद भी उसकी पत्नी चोरी छिपे उससे बात कर रही थी। इसकी भनक लगने पर पुन: उसके परिजनों ने उसे प्रताडि़त किया। मुझसे अलग करने की जिद्द में परिजन कहीं उसे मार न डालें।

०००००००००००

LEAVE A REPLY