पार्टी ने एक विद्वान सहयोगी, देश ने एक ईमानदार राजनेता खो दिया : राकेश सिंह

0
21

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। जेटली जी का इस तरह जाना भारतीय जनता पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है, जिनकी विद्वता ने कई अवसरों पर पार्टी को राह दिखाई है। यह देश के लिए भी बड़ा नुकसान, जिसने एक ईमानदार और मूल्य आधारित राजनीति करने वाला राजनेता खो दिया है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कही।

राकेश सिंह ने कहा कि स्व. जेटली एक तरफ जहां संसदीय प्रक्रियाओं और उनकी बारीकियों के जानकार थे, वहीं, वे एक विश्वस्तरीय कानूनविद् भी थे। वे चाहे विपक्ष में रहे हों, या सत्ता में अनुभव, ज्ञान और तर्कों पर आधारित उनके वक्तव्य उनकी अद्वितीय विशेषता थे। उनका दायरा सिर्फ कानून और आर्थिक मामलों तक सीमित नहीं था, बल्कि वे हर विषय पर ऐसे अधिकार और दक्षता के साथ अपनी बात रखते थे कि विरोधी नेता भी चुप हो जाते थे। सिंह ने कहा कि बात चाहे संसद के अंदर की हो, या बाहर की जेटली जी इतनी स्पष्टता के साथ पार्टी का पक्ष देश और दुनिया के सामने रखते थे कि उनके बयान के बाद कोई सवाल नहीं बचता था। सिंह ने कहा कि जेटली जी के व्यक्तित्व में कुशल योजनाकार, दक्ष प्रशासक, सुयोग्य रणनीतिकार और आदर्श प्रवक्ता की विशेषताएं समाहित थीं। विभिन्न विषयों या समस्याओं के संबंध में उनकी स्पष्ट और सुलझी हुई राय पार्टी को ऊर्जा और दिशा प्रदान करती थी।

सिंह ने कहा कि जेटली जी भले ही हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनके किए हुए काम हर पार्टी कार्यकर्ताओं को और हर भारतवासी को उनकी उपस्थिति का अहसास कराते रहेंगे। सिंह ने कहा कि जेटली के वित्तमंत्री रहते हुए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालेधन और आतंकवाद की कमर तोडऩे के लिए नोटबंदी का फैसला किया था। सरकार के इस निर्णय को जितनी कुशलता के साथ लागू किया गया, वह जेटली जी की प्रबंधन क्षमता का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि जेटली जी के वित्तमंत्री पद पर रहते हुए ही मोदी जी के नेतृत्व में भारत दुनिया की 11 वीं अर्थव्यवस्था से छठी अर्थव्यवस्था वाला देश बना। यह सिर्फ देश ही नहीं, बल्कि सारी दुनिया के लिए एक महत्वपूर्ण बदलाव था। एक देश, एक कर की सरकार की नीति के चलते पूरे देश में जीएसटी की व्यवस्था लागू की गई। लेकिन इसे लागू करने के लिए विभिन्न दलों में समन्वय बनाने, सभी राज्यों को इसके लिए तैयार करने, टैक्स स्लैब बनाने से लेकर उसे लागू करने और जनता की आकांक्षाओं तथा समस्याओं के अनुरूप कर ढांचे में सुधार के काम जेटली जी ने जिस संवदेनशीलता और जिम्मेदारी के साथ किए थे, उसके लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। राकेश सिंह ने स्व. जेटली जी की आत्मा को श्रीचरणों में स्थान देने और उनके परिजनों को दुख की इस घड़ी में धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना परमपिता परमेश्वर से की है।

००००००००००००

LEAVE A REPLY