पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दस साल, बेटी मरियम को सात साल की सजा

0
480

इस्लामाबाद। (हिन्द न्यूज सर्विस)। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान की कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है। इसके साथ ही उनकी बेटी मरियम को भी कोर्ट ने 7 साल की सजा का ऐलान किया है। उन्हें यह सजा लंदन के पॉश एवेनफिल्ड हाउस में चार फ्लैट का मालिकाना हक रखने का दोषी पाए जाने पर दिया गया है। साथ ही कोर्ट ने शरीफ के दोनों बेटों हुसैन और हसन को भगोड़ा घोषित कर दिया है, और उनके खिलाफ आजीवन अरेंट वॉरेंट जारी कर दिया है।

इसके साथ ही कोर्ट ने नवाज शरीफ पर 73 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है। वहीं नवाज की बेटी मरियम पर 18 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है। ये फैसला पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों से कुछ सप्ताह पहले सुनाया गया है। नवाज की बेटी मरियम पाकिस्तान में चुनाव लड़ रहीं है।

पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अदालत में आज के फैसले को एक हफ्ते देरी से सुनाने की अपील की थी।उनका कहना था कि वह इस मामले का फैसला अदालत कक्ष में मौजूद रहकर सुनना चाहते हैं। शरीफ और मरियम की ओर से दायर इसी तरह के आवेदनों में अधिवक्ता ने शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज की खराब सेहत का हवाला देकर शरीफ परिवार के फैसले के वक्त मौजूद न रह सकने का कारण बताया था लेकिन अदालत ने आज उनका इस याचिका को खारिज कर दिया था।

बता दें कि शरीफ और उनके तीन बच्चों के खिलाफ जवाबदेही अदालत में भ्रष्टाचार के चार मामले चल रहे हैं। पनामा पेपर मामले में पिछले साल सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद नेशनल अकाउंटबिलिटी ब्यूरो ने जवाबदेही अदालत में मामला दायर किया था।

मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा पनामा पेपर मामले में अयोग्य करार दिए जाने के बाद नवाज तीसरी बार पीएम पद से हटाए गए थे। वह पनामा मामले में सिर्फ इसलिए अयोग्य करार दिए गए क्योंकि वह अपने परिवार और अपनी लंदन स्थित संपत्ति का स्रोत नहीं बता पाएं थे।

बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव के लिए मतदान किए जाएंगे। ऐसे में जेल की सजा मिलने से नवाज की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज को बड़ा झटका लगा है। फैसले के बाद यह भी साफ हो गया है कि मरियम अब चुनाव नहीं लड़ पाएंगी।

०००००००

LEAVE A REPLY