पटेल के बाद अब गांधी हुए भाजपा के ?

0
16

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की १५०वीं जयंती के मौके पर केन्द्र और राज्य सरकारें बड़े पैमाने पर आयोजन करने जा रही हैं इस जयंती को मनाने में सबसे ज्यादा उत्साहित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नजर आ रहे हैं तो वहीं कांग्रेस का राष्ट्रीय नेतृत्व और जहाँ-जहाँ कांग्रेस की सरकारें हैं वहाँ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा की तरह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की १५०वीं जयंती मनाने के लिये जोर-शोर से तैयारियां की जा रही हैं। उनकी इस तरह की तैयारियों को लेकर यह चर्चा जोरों पर हैं कि जो कांग्रेस राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर राजनीति करती आई है वह आज भाजपा की तरह महात्मा गांधी की १५०वीं जयंती मनाने के लिये उत्साहित दिखाई नहीं दे रही है। जिस तरह की तैयारी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बढ़चढ़कर कार्यक्रम तैयार किये जा रहे हैं तो वहीं कांग्रेसी नेता और जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं फिर चाहे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ हों या फिर राजस्थान के अशोक गहलोत या छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल हों सहित कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियां में गांधी जी की १५०वीं जयंती मनाने के लिये कोई उत्साह नजर नहीं आ रहा है। इससे यह साफ नजर आ रहा है कि कांग्रेसी नेताओं का गांधी से मोह भंग हो गया है और गांधी को पटेल की तरह अपनाने की भाजपा कोशिश करने में लगी हुई है, इस आयोजन के तहत आगामी दो अक्टूबर से भाजपा के ३८० सांसद और राज्यसभा सहित प्रतिदिन १५ किलोमीटर पदयात्रा करेंगे, यह पदयात्रा सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्मदिन ३१ अक्टूबर तक चलेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा तैयार किये गये कार्यक्रम के अनुसार भाजपा का हर नेता, सांसद १५ किलोमीटर की यात्रा प्रतिदिन करेगा।

०००००००००००००

LEAVE A REPLY