क्षत्रपों को लुभाने में लगी कांग्रेस

0
33

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। कांग्रेस पार्टी ने आखिरी चरण के मतदान से पहले ही प्रादेशिक क्षत्रपों से बातचीत शुरू कर दी है और उनको लुभाने का प्रयास चालू कर दिया है। कांग्रेस की नजर ऐसे प्रादेशिक क्षत्रपों पर है, जो सेकुलर राजनीति का हिस्सा रहे हैं और जिनकी भाजपा और नरेन्द्र मोदी से कभी न कभी आपत्ति रही है या है। ऐसे क्षत्रपों से कांग्रेस के पुराने नेताओं ने बात शुरू कर दी है। इनमें कई प्रादेशिक नेता हैं, जो अभी एनडीए के साथ हैं। कांग्रेस और भाजपा में समान दूरी रखने वाले नेताओं से भी बात हो रही है। नतीजों के बाद की रणनीति बनाने के लिए सोनिया गांधी इनको भी अपनी बैठक में बुला रही हैं। इसी प्रयास में कांग्रेस ने बुधवार केा कमाल का दांव चला। पटना में प्रचार के लिए पहुंचे कांग्रेस के नेता और बिहार के पूर्व प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने नीतीश कुमार की ओर पत्ता फेंका। आजाद ने कहा कि त्रिशंकु लोकसभा बनती है तो केंद्र में गेर भाजपा सरकार बनवाने में नीतीश कुमार मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि कई पार्टियां ऐसा कर सकती हैं पर नाम सिर्फ नीतीश कुमार का लिया। ध्यान रहे कि नीतीश कुमार पहले कांग्रेस की मदद से राजद से तालमेल करके लड़ चुके हैं और एक समय वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पसंदीदा नेता थे। बताया जा रहा है कि २३ मई के बाद की राजनीति में उनके चुनाव प्रचारक रहे प्रशांत किशोर की बड़ी भूमिका रहेगी। प्रशंात किशोर दक्षिण के कुछ क्षत्रपों के सम्पर्क में हैं। बहरहाल, नीतीश कुमार की ओर एक कदम बढ़ाने के साथ ही खबर है कि कांग्रेस के नेता ओडि़शा के मुख्यमंत्री और बीजू जनता दल के अध्यक्ष नवीन पटनायक के सम्पर्क में हैं और साथ ही कांग्रेस छोड़ कर गए वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगन मोहन रेड्डी के संपर्क में भी हैं। ध्यान रहे जगन ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि उन्होंने कांग्रेस को माफ कर दिया है और उनके मन में कांग्रेस के लिए कोई गुस्सा नहीं है। माना जा रहा है कि चुनाव में उनकी इस बयान का फायदा हुआ है। बहरहाल, जाानकार सूत्रों के मुताबिक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ इस काम में लगाए गए हैं। आंध्र प्रदेश के प्रभारी बनाए गए ओमान चांडी और केरल के वरिष्ठ नेता वायलार रवि का संबंध जगन के पिता वाईएसआर रेड्डी से बहुत अच्छा रहा है। ये दोनों भी जगन को कांग्रेस के साथ लाने में भूमिका निभा सकते हैं।
०-नया इंडिया से साभार)
०००००००००

LEAVE A REPLY