ओरछा: विदेशी दूल्हा-दुल्हन का विवाह पवित्र मंत्रोच्चार द्वारा भारतीय रीति रिवाज से हुआ सम्पन्न

0
53

०-शुभम गंगेले
ओरछा-टीकमगढ़। (हिन्द न्यूज सर्विस)। ऐक ओर जहां हमारा समाज पाश्चात्य सभ्यता को गले लगा रहा है वहीं पाश्चात्य लोग भारतीय संस्कृति से नाता जोड़ रहे है। आपको बता दे कि रबिवार धार्मिक ऐबं पर्यटन नगरी ओरछा में ऐक विदेशी जोडे ने भारतीय संस्कृति के अनुरूप ऐक होटल में धार्मिक मंत्रोच्चार द्वारा शादी के पबित्र बंधन मे बंध गए।

जर्मनी निवासी 29 बर्षीय दूलहा क्रसटाफ ब 24 बर्षीय लुईसा ने ऐक निजी होटल में पूरे धार्मिक तथा भारतीय तरीके से परिणय सूत्र में बंधे इन्होंने न सिर्फ भारतीय तरीके से बिवाह किया बल्कि पहनावा भी भारतीय दूल्हा-दुल्हन की तरह पहना जी हां दुल्हन लुईसा ने लाल रंग का लहंगा पहना हुआ था इस जोड़े में मानो परी को भी मात दे दें तथा दूल्हा क्रसटाफ ने भी जडाउ शेरवानी पहना हुआ था दोनो ने हाथों में हाथ लेकर सात जन्म तक साथ रहने की सौगात ली इसके पश्चात पंडित ने वरमाला ऐक दूसरे को पहनवाई तथा सात फेरे भी मंत्रोच्चार करके दिलाऐ तथा अंत मे इस जोड़े ने श्री रामराजा सरकार का आशिर्वाद लिया। इस जोड़े का कहना है की भारतीय परम्परा से जुड़कर रहने में ऐक आध्यात्मिक सुकुन का अनुभव होता है जो सायद सभी लोग महसूस नहीं कर पाते हैं आगे उन्होने कहा कि कितने भाग्यशाली है भारतीय जन जिन्हे ऐसी संस्कृति ऐसी सभ्यता से जुड़े रहने का सौभाग्य प्राप्त है हम नमन करते है भारतीय संस्कृति को।

गौरतलब है कि जोड़ा भले ही सात समंदर पार से हो परन्तु रीति-रिवाज तो ठेट बुन्देली संस्कृति के ही है तथा इस नवयुगल को पूर्ण विश्वास है कि सनातन संस्कारों से अभिप्रेरित अनुष्ठानों के बीच हुआ उनका परिग्रहण अन्य सात जन्मों तक सफल और अटल रहेगा।

००००००

LEAVE A REPLY