आरटीओ की अवैध वसूली के दौरान बाइक चालक को मारी लाठी, महिला की मौत

0
259

भोपाल। (हिन्द न्यूज सर्विस)। प्रदेश की सीमा पर स्थापित परिवहन चौकियों पर अवैध वसूली के मामले में मध्यप्रदेश ने नये नये इतिहास रचे हैं, इसी मध्यप्रदेश की परिवहन चौकियों पर अवैध वसूली की रकम गमलों और अखबार की रद्दियों से उगलने की घटना घटित हुई तो वहीं परिवहन चौकियों पर तैनात एक महिला सब-इंस्पेक्टर से भोपाल के रेलवे स्टेशन पर लाखों रुपये की राशि बरामद की गई, यही नहीं दिग्विजय ङ्क्षसह के शासनकाल में उनके निवास पर तैनात एक सुरक्षा कर्मी को परिवहन विभाग में प्रतिनियुक्ति पर भेजने के बाद अवैध कमाई के चलते वह उसने इतनी सम्पत्ति बनाई कि उन्हीं तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के यहां चुनाव में टिकट मांगने पहुंच गया तो वहीं आरटीओ का एक कर्मचारी से करोड़ों रुपये की अवैध वसूली हुई तो इन सब घटनाओं से साफ है कि मध्यप्रदेश में परिवहन विभाग के अधिकारियों अवैध वसूली की लत सी लग गई है जिसके चलते वह अब प्रदेश में बंद की गई परिवहन चौकियों के बाद सड़क पर निजी लठैतों को लेकर अवैध वसूली के ताण्डव दिखाने लगा है लेकिन मजे की बात यह है कि यह सब खेल परिवहन विभाग के ऊपर से लेकर नीचे तक अधिकारियों के संरक्षण में चल रहा है क्योंकि परिवहन मंत्री और उनके स्टाफ का तो यही दावा है कि प्रदेश में परिवहन विभाग की अवैध वसूली पूरी तरह से बंदहै लेकिन फिर भी अवैध वसूली का दौर अब परिवहन चौकियों की बजाए अवैध वसूली का यह ताण्डव निजी लठैतों को लेकर सड़कों पर दिखाई देने लगा है अभी तक तो प्रदेश की परिवहन चौकियों पर निजी लठैतों के सहारे अवैध वसूली की घटनाएं सुर्खियों में रहती थीं लेकिन अब तो वह सड़कों पर दिखाई दे रही हैं और इस तरह की निजी लठैतों के माध्यम से जो अवैध वसूली का दौर चल रहा है जिसके चलते एक बाइक चालक को लाठी मारने से एक महिला की मौत होने की खबर उस मुरैना जिले की है जिससे कुछ ही दूरी पर राज्य के परिवहन आयुक्त का मुख्यालय है और मजे की बात यह है कि इस जिले में चल रही प्रायवेट लठैतों के साथ परिवहन विभाग द्वारा की जा रही अवैध वसूली की इस घटना की परिवहन विभाग के मुखिया को भनक तक नहीं है, यह बात सबसे आश्चर्यजनक है कि यह सब खेल मुरैना में धड़ल्ले से चल रहा है लेकिन परिवहन विभाग के मुखिया से लेकर प्रदेश के आरटीओ कार्यालय के अधिकारियों को इसकी भनक तक नहीं है। पता नहीं इस खेल के चलते और कितनी मौतें होंगी वैसे भी परिवहन विभाग भ्रष्टाचार के मामले को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहता है चाहे फिर वह स्कूल बसों के हो रहे हादसों में नन्हे-मुन्ने बच्चों का मामला हो या फिर पन्ना जिले में घटित बस हादसे में हुई लोगों की मौत का मामला हो इन सभी में हमेशा सुर्खियों में रहने वाला परिवहन विभाग सुधरने का नाम ही नहीं ले रहा है और आयेदिन लठैतों के सहारे अवैध वसूली का दौर प्रदेश में जारी है। ऐसी ही एक घटना मुरैना जिले में पिछले दिनों घटित हुई जिसके चलते आरटीओ द्वारा निजी लोगों के माध्यम से कराई जा रही वसूली एक महिला की मौत का कारण बन गई। कुछ प्रायवेट लोग उडऩ दस्ते की आड़ में अधिकारियों के सामने ट्रकों से लाठी डण्डे के बल पर अवैध वसूली कर रहेथे इसी दौरान एक लठैत ने बाइक सवार को लाठी मारी जिससे वह अनियंत्रित हो गया और पीछे से आ रहे ट्रक नरे उसमें टक्कर मार दी, जिससे बाइक पर बैठी महिला गिरकर ट्रक के पहिये के नीचे आ गई और उसकी घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। आक्रोशित लोगों ने हाईवे पर जाम लगा दिया तथा आरटीओ के अधिकारी हादसे के बाद मौके से फरार हो गये। प्राप्त जानकारी के अनुसार परिवहन विभाग मुरैना के उडऩ दस्ते द्वारा अधिकारियों की देखरेख में प्रायवेट लठैतों के माध्यम से हाईवे से गुजरने वाले ट्रक, टेंकर, डम्पर आदि वाहनों को रोककर जमकर अवैधवसूली कराई जा रही है। यह उडऩ दस्ता आये दिन धौलपुर रोड स्थित एमआरडी कॉलेज के पास खड़ा होता है और प्रायवेट लोग अधिकारियों की आड़ में लाठियां लेकर ट्रकों को रोक लेते हैं तथा उससे दो से पाँच रुपये तक वसूल करते हैं। परिवहन अधिकारियों के संरक्षण में लगभग आधा दर्जन लठेत हाईवे पर खड़े होकर वसूली कर रहे हैं जिससे वाहन चालकों में दहशत का वातावरण बना हुआ है। गत दिवस श्रीमती कुसुम गुर्जर पत्नी राजाभैय्या गुर्जर ३५ वर्ष निवासी गोरमी जिला भिण्ड पचीखरा थाना सवारछौला में रहने वाली अपनी बहन के घर से अपने रिश्तेदार रवि की मोटरसाइकिल पर बैठकर मुरैना की ओर आ रही थी तभी एमआरडी कॉलेज के सामने परिवहन अधिकारियों की संरक्षण में खड़े प्रायवेट लठैतों ने वाहनों को रोकने के दौरान रवि की बाइक से में लाठी मार दी और बाइक रवि से अनियंत्रित हो गई, इसी बीच पीछे से आ रहे ट्रक क्रमांक एए ५३ बी ३२ चालक ने तेजी व लापरवाही से ट्रक चलाते हुए बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर लगने से बाइक पर पीछे बैठी कुसुम उथटकर ट्रक के पहिये के नीचे आ गई और उसके सिर का कचूमर निकल गया। दुर्घटना में महिला की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हादसा देख अवैधवसूली में जुटे उडऩ दस्ता के अधिकारी व प्रायवेट लोग मौके से भाग निकले। इधर घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने हाईवे पर जमा लगा दिया जो करीब दो घंटे तक चला और इस दौरान सड़क के दोनों ओर वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई। घटना की जानकारी मिलते ही सिविललाइन थाना, सरायछौला थाना सहित भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा एवं प्रशासनिक अधिकारी भी आ गये। ग्रामीणों के द्वारा हादसे के लिये जिम्मेदार लोगों पर कार्यवाही की मांग की जाने लगी। लगभग दो घंटे पश्चात पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइश एवं ट्रक चालक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने एवं जिम्मेदार लोगों पर कार्यवाही के आश्वासन के बाद जाम खुल सका। उल्लेखनीय है कि चेक पोस्ट बंद हो जाने के बाद अब परिवहन विभाग के अधिकारियों के संरक्षण में फिर से प्रायवेट लठैत अवैध वसूली में जुट जाते हैं और यह प्रायवेट लठैत उनकी देखरेख में वाहनों को रोककर दो से पांच रुपये तक की अवैध वसूली कर रहे हैं। समय रहते वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इस अवैध वसूली को नहीं रोका गया तो कभी भी कोई गंभीर घटना घटित हो सकती है।

००००००००००

LEAVE A REPLY